धन वापसी यह मांग है कि सरकार हर साल भारत में हर परिवार को सार्वजनिक संपत्ति के हिस्से के रूप में 1 लाख रुपये लौटाती है।

Back the Movement

नया क्या है

धन वापसी’ क्या है?

भारत की सार्वजनिक संपत्ति कम-से-कम 1500 लाख करोड़ रुपये है या ऐसा भी कह सकते हैं कि प्रत्येक पुरुष, महिला और बच्चे के हिस्से में 10 लाख रुपये आते हैं। फिलहाल, यह संपत्ति सरकार के पास निष्क्रिय पड़ी है। इस धन की वापसी से हर भारतीय अपने सपनों और जरूरतों को एक सीमा तक पूरा कर सकता है, इस ‘धन वापसी’ से नौकरियां और रोजगार के अवसर पैदा हो सकते हैं।

धन वापसी को वास्तविकता बनाएं

हमारा ‘धन वापसी’ आंदोलन सार्वजनिक धन की वापसी के लिए काम करेगा जोकि भारतीय जनता की अपनी संपत्ति है। ‘धन वापसी’ आंदोलन यह तय करेगा कि प्रत्येक भारतीय परिवार को हर साल अपने बैंक खाते में 1लाख रुपये मिलें।

इसके लिए आपको यह करना है-

हमें ‘धन वापसी’ क्यों चाहिए?

गरीबी, बेरोजगारी और भ्रष्टाचार भारत का भाग्य नहीं है।

दुनिया का हर तीसरा गरीब व्यक्ति भारत में रहता है।

भारत के आधे बच्चे गंभीर रूप से कुपोषित हैं।

हमारी संपत्ति का 1500 लाख करोड़ रुपये सरकार के साथ है

भारत की चुनौती धन की कमी नहीं, बल्कि जनता तक उसके न्यायोचित हिस्से का पहुंचना है।

संसाधन

धन वापसी' पुस्तिका

धन विकी

धन वापसी' विधेयक और रिपोर्ट

सामान्‍य प्रश्‍न

मिलिए राजेश जैन से

हम भारत को समृद्धि के मार्ग पर ले जा सकते हैं, कई पीढ़ीयों में नहीं बल्कि दो चुनावों के बीच में । 130 करोड़ जनता का भविष्य इस बात पर निर्भर करता है कि हम आज क्या कर रहे हैं। अब औऱ समय बर्बाद नहीं करना है।

Responsive image